कोरोना के कारण भारतीय एथलीटों की ट्रेनिंग करने की योजना बर्बाद : AFI

कोरोना के कारण भारतीय एथलीटों की ट्रेनिंग करने की योजना बर्बाद : AFI

भारतीय एथलेटिक्स महासंघ (एएफआई) के अध्यक्ष अदिले सुमारिवाला ने कहा है कि भारत में कोरोनावायरस की दूसरी लहर के कारण टोक्यो ओलंपिक के लिए ट्रेनिंग करने की भारतीय एथलीटों की योजनाएं खत्म हो गई है। हालांकि, सुमारिवाला ने साथ ही कहा कि शीर्ष एथलीटों ने मार्च में फेडरेशन कप एथलेटिक्स चैंपियनशिप के दौरान खुद को अच्छी स्थिति में पहुंचा दिया है।

सुमारिवाला ने कहा, ” इसने आगे एक अच्छे सीजन की उम्मीद जगाई थी, लेकिन टोक्यो ओलंपिक के लिए एएफआई का रोड मैप भारत में महामारी के कारण बाधित हुआ है। भारतीयों के लिए कई यूरोपीय देशों द्वारा लगाए गए यात्रा प्रतिबंधों के कारण शीर्ष एथलीटों के लिए विदेशों का दौरा करना असंभव हो गया है। इसने एथलीटों को प्रशिक्षण के लिए विदेश भेजने के लिए चीजों को और अधिक चुनौतीपूर्ण बना दिया था।”

भाला फेंक खिलाड़ी नीरज चोपड़ा और शिवपाल सिंह सहित दस व्यक्तिगत एथलीटों ने टोक्यो ओलंपिक के लिए कोटा हासिल किया है। 2019 दोहा विश्व चैंपियनशिप में फाइनलिस्ट होने के कारण राष्ट्रीय मिश्रित चार गुणा 400 मीटर रिले टीम ने भी टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर लिया है।

एएफआई अध्यक्ष ने कहा, ” इन चुनौतीपूर्ण समय में जब भारतीयों के लिए 15-दिन का क्वारंटीन नियमों वाले पटियाला और यूरोपीय देशों में गर्मी की गर्मी बढ़ रही है, तो ट्रेनिंग के लिए एक सही जगह ढूंढना मुश्किल है। एएफआई ओलंपिक के आगामी दिनों में यूरोप में प्रशिक्षित करने के लिए सबसे अच्छी जगह खोजने के लिए काम कर रहा है।” टोक्यो ओलंपिक का आयोजन जुलाई-अगस्त में होना है।

न्यूज सत्रोत आईएएनएस

Post a Comment

From around the web