छेत्री भाई से शांत रहना सीखा है : Manveer Singh

V

भारतीय फुटबाल टीम के फॉरवर्ड मनवीर सिंह ने कहा है कप्तान सुनील छेत्री के साथ खेलने से उन्हें सीखने में काफी मदद मिली है। मनवीर भारत की उस टीम का हिस्सा थे, जिसे 2022 विश्व कप और 2023 एशियाई कप के संयुक्त क्वालीफायर में कतर के खिलाफ 0-1 से हार का सामना करना पड़ा था।

मनवीर ने कहा, ” जब मैं शीर्ष स्ट्राइकर के साथ खेलता हूं तो मेरा काम आसान हो जाता है। मैं केवल सुनील भाई को देखता हूं और मैदान पर उनके धैर्य को दोहराने की कोशिश करता हूं। अंत में धैर्य के साथ खेलने से काफी अंतर पैदा होता है। यह मेरे लिए शिक्षा है। मैच के दौरान स्ट्राइकर को काफी मौके नहीं मिलते।”

25 साल के मनवीर इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) की सबसे सफल टीम एटीके मोहन बागान के लिए खेलते हैं। मनवीर ने कहा कि उनके पिता हमेशा उनसे कहते थे कि छेत्री को देखो और उनसे सीखो।

उन्होंने कहा, ” मेरे पिता कुलदीप सिंह, जो एक स्ट्राइकर के रूप में पीएसबीई के लिए खेले और फेडरेशन कप, डूरंड कप और आईएफए शील्ड में काफी गोल किए, इसके अलावा कई अन्य टूर्नामेंटों की मेजबानी हमेशा मुझे सुनील-भाई से सीखने के लिए कहते हैं। वह उनके खिलाफ खेले थे, और हमेशा मुझसे कहते हैं ‘जब आप उन्हें करीब से देख रहे हैं, तो जितना हो सके सीखो। सुनील की विशेषता यह है कि वह इतने लंबे समय से वहां है। और वह बेहद कठिन काम है।”

भारतीय टीम को अब 15 जून को अफगानिस्तान के खिलाफ अपना अगला मुकाबला खेलना है। हालांकि भारतीय टीम ने अपने पिछले मैच में कप्तान छेत्री के दो गालों की मदद से सोमवार को बांग्लादेश को 2-0 से मात दी।

मनवीर ने अगले मैच को लेकर कहा, ” बांग्लादेश के खिलाफ पिछले मैच में हासिल लय को हमें बरकरार रखना होगा और यहां तक कि कतर के खिलाफ 0-1 की हार के दौरान की लय को भी। लेकिन सभी को पता है कि यह अतीत की बात है। 15 जून को होने वाला मुकाबला नई शुरूआत होगा। हमें सब कुछ नए सिरे से करना होगा।”

– -आईएएनएस

Post a Comment

From around the web