केविन पीटरसन ने जसप्रीत बुमराह की तारीफ में जमकर पढ़े कसीदे, बोले- इस मामले में डेल स्टेन की दिलाते हैं याद

s

स्पोर्ट्स डेस्क, जयपुर।। भारत ने ओवल मैदान पर खेले गए चौथे टेस्ट मैच में इंग्लैंड को 157 रनों से करारी शिकस्त दी. भारत की इस जीत में अहम किरदार निभाया तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह  ने. उन्होंने मैच की चौथी पारी में भारत के लिए एक ऐसा स्पैल डाला कि अंग्रेज बल्लेबाजों के पास घुटने टेकने के सिवाए कोई और चारा नहीं बचा. उन्होंन इस पारी में छह ओवर के एक स्पैल में महज छह रन दिए और दो विकेट लिए. इसमें एक विकेट इंग्लैंड की पहली पारी की हीरो ऑली पोप का रहा. दूसरा विकेट जॉनी बेयरस्टो का रहा.बुमराह के इस प्रदर्शन को देखते हुए चारों तरफ से उनकी तारीफें हो रही हैं. इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन का नाम भी इसमें शामिल है.

पीटरसन ने कहा है कि बुमराह आज के दौर के महान गेंदबाज हैं. उन्होंने कहा है कि बुमराह को देखकर उन्हें साउथ अफ्रीका के बेहतरीन गेंदबाज डेल स्टेन की याद आती है. पीटरसन ने बेटवे के लिए एक ब्लॉग लिखा है जिसमें उन्होंने बुमराह की जमकर तारीफ की है.

ऐसा कर सकते हैं बुमराह

पीटरसन ने कहा, “वह लंबे स्पैल डाल सकते हैं, वो भी इंटेंसिटी, सटीकता, तेजी और अनुशासन के मामले में. इस मामले में वो मुझे डेल स्टेन की याद दिलाते हैं जिन्होंने पिछले सप्ताह ही संन्यास लेने की घोषणा की है. मेरे लिए स्टेन सर्वकालिक महान तेज गेंदबाज हैं क्योंकि उन्होंने हर परिस्थितियों में अच्छा प्रदर्शन किया है. बुमराह हो सकता है कि कभी स्टेन के बराबर नहीं पहुंच पाएं. लेकिन विश्व के किसी भी कोने में उनकी विपक्षी टीम को तोड़ने की क्षमता उन्हें अलग बनाती है.”

s

रूट ने भी की तारीफ

पीटरसन इकलौते अंग्रेज नहीं हैं जिन्होंने बुमराह की तारीफ की है. इंग्लैंड टीम के कप्तान जो रूट ने भी माना कि बुमराह का वो छोटा स्पैल मैच पलटने वाला साबित हुआ. उन्होंने कहा, “जीत का श्रेय भारत को जाता है. उन्होंने गेंद को रिवर्स स्विंग कराया. मुझे लगता है कि बुमराह का स्पैल मैच पलटने वाला साबित हुआ. हमारी तरफ से हमें बाकी की चीजों को भी देखना होगा जहां हमने मौके गंवाए. हम पहली पारी की बढ़त के आधार पर और एडवांटेज ले सकते थे और उन मौकों को भुना सकते थे जो हमारे सामने आए. हम हमेशा से बेहतर होने की सोचते हैं. वह (बुमराह) शानदार गेंदबाज हैं और एक समय हमें हकीकत में रहना होता है और ये मानना होगा कि उन्होंने शानदार गेंदबाजी की. वो विश्व स्तर की गेंदबाजी की थी.”

Post a Comment

From around the web