‘धोनी को तो कोई भीख भी नहीं देगा, जो जो इसने बनाया है सबकुछ बर्बाद हो जाऐगा ये सिर पकड के रोएगा’

‘धोनी को तो कोई भीख भी नहीं देगा, जो जो इसने बनाया है सबकुछ बर्बाद हो जाऐगा ये सिर पकड के रोएगा’

 क्रिकेट न्यूज डेस्क।। भारतीय क्रिकेट और दुनिया भर में महेंद्र सिंह धोनी के प्रशंसकों की कमी नहीं है। अनगिनत खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी को अपना आदर्श मानते हैं। और इसके कुछ आलोचक हैं। महेंद्र सिंह धोनी के आलोचकों की लिस्ट बनाई जाए तो सबसे पहला नाम योगराज सिंह के पिता योगराज सिंह का ही आएगा। उनका एक वीडियो जो काफी चर्चा में है. जिसमें उन्होंने एमएस धोनी के बारे में बिना रुके सारी बातें कह दी हैं।
 
जिसमें उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी को थप्पड़ मारने से लेकर भीख मांगने और रावण तक के नाम बताए हैं। महेंद्र सिंह धोनी और किसी अन्य खिलाड़ी के बारे में ऐसी कड़वी बातें आपने कभी नहीं सुनी होंगी, जो योगराज सिंह के मुताबिक सच है। इस बीच, उन्होंने 2011 विश्व कप में युवराज सिंह की जगह लेने के धोनी के फैसले की भी आलोचना की। जानिए क्या है पूरा मामला...

‘धोनी को तो कोई भीख भी नहीं देगा, जो जो इसने बनाया है सबकुछ बर्बाद हो जाऐगा ये सिर पकड के रोएगा’

धोनी ने 20 लाख पाउंड के इस साथी को बताया कल जमीन पर सो रहा था...

युवराज सिंह के पिता योगराज सिंह सीधे संवाद के लिए जाने जाते हैं। एक वीडियो में उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी से कहा, "ये साला हो टंका की मानस जो कल जमीन पर सो रहा था। उसे नहीं पता था कि उसे रात में रोटी मिलेगी या नहीं। आज भगवान ने उसे इतना कुछ दिया है कि वह अहंकार दिखाता है। आज भगवान ने अपना खजाना भर दिया है। उन्हें ऐसी टीम का कप्तान बनाया गया जिसमें कई सीनियर खिलाड़ी थे।"

‘धोनी को भीख में रोटी तक नहीं मिलेगी, इसका जो जो बना है सब तिनका तिनका करके उजड़ेगा’

धोनी के लिए बोले योगराज सिंह, मैं पत्रकार होता तो मुझे थप्पड़ मारकर पूछता...
 
"इतनी बड़ी टीम का कप्तान बनने के बाद, वह एक पत्रकार के सामने बैठता है और उसे उकसाता है। वह उस पर हंसता है। हिंदुस्तान के लोग हंसते हैं और भारत के लोग उसकी सराहना करते हैं। अगर मैं मीडिया में होता, तो मैं होता। चाटा होगा और कहा होगा कि आपको ऐसा करने का कोई अधिकार नहीं है।

जो कुछ भी है, वह तिनके से बिखर जाएगा

बाद में अपनी बातचीत में उन्होंने रावण के राम का उदाहरण दिया और कहा कि एक रावण था। लेकिन इसका मतलब यह है कि महेंद्र सिंह धोनी खुद को रावण से ऊपर अपना भगवान मानते हैं। साथ ही उन्होंने आगे कहा कि भारतीय टीम के खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी के बारे में उनके गौरव के बारे में क्या बात करते हैं। इससे पहले योगराज सिंह ने कहा था कि उन्हें इस पर विश्वास नहीं है। पहले तो उन्हें इन खिलाड़ियों से जलन होती थी। महेंद्र सिंह धोनी के बारे में खिलाड़ी खूब बातें करते हैं। उन्होंने आगे कहा कि महेंद्र सिंह धोनी बडुवा में नहीं रहते थे। लेकिन वह (एमएस धोनी) आगे बढ़कर भीख मांगेंगे और जो भी हो। भूसे से सब कुछ नष्ट हो जाएगा।

‘धोनी को भीख में रोटी तक नहीं मिलेगी, इसका जो जो बना है सब तिनका तिनका करके उजड़ेगा’

युवराज सिंह पर उठे सवाल

योगराज सिंह ने अपने इंटरव्यू में आगे कहा कि 2011 में जब युवराज सिंह चौथे नंबर पर आए थे। फिर उन्हें रोककर वह खुद आ गया। अब आप छठे नंबर पर बल्लेबाजी करने क्यों गए? उन्होंने धोनी को गीली बिल्ली भी कहा। बता दें, युवराज सिंह 2011 में प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट रहे थे। उन्होंने पूरे सीजन में अच्छी बल्लेबाजी की। लेकिन महेंद्र सिंह धोनी को 2011 वर्ल्ड कप का हीरो कहे जाने पर योगराज सिंह बार-बार आपत्ति जता चुके हैं।

Post a Comment

From around the web