IND vs SA Live, “बाहरी शोर से मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता,”Jasprit Bumrah

IND vs SA Live, “बाहरी शोर से मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता,”Jasprit Bumrah

क्रिकेट न्यूज डेस्क।।  यह समझते हुए कि उनकी गेंदबाजी के बारे में अलग-अलग राय हैं, जसप्रीत बुमराह ने बाहरी शोर पर ध्यान न देने का जो फैसला लिया था, आज के मैच में उसकी सफलता साफ देखने को मिली। वांडरर्स में भारत की हार के वक्त बुमराह ने काफी निराशाजनक प्रदर्शन किया था और उनका गेंदबाजीं पर बहुत आलोचना भी की गई थी।
 
42 रन देकर पांच विकेट लेने वाले बुमराह ने खेल खत्म होने पर आज इन सभी बातों पर चुप्पी तोड़ते हुए कहा, ”कोई भी समय पेर्मनेंट नहीं रहता और इसीलिए मैं इन सब बतों पर अतिरिक्त ध्यान नहीं देता। मैं वास्तव में, गुस्से में नहीं था और वर्तमान पर ध्यान केंद्रित कर रहा था और आखिरकार मुझे जो करना था, वही किया।

जब जसप्रीत बुमराह से पूछा गया कि क्या आलोचना या प्रशंसा से उन्हें फर्क पड़ता है तो उन्होंने कहा कि, ”जब संदेह करने वाले हैं तो प्रशंसा करने वाले लोग भी होंगे और यह एक ऐसी चीज़ है जिसे व्यक्ति को तय करना होता है कि वह किसे महत्व देना चाहता है। मैं वास्तव में बाहरी शोर पर ध्यान नहीं देता। जब मैं गेंदबाजी करता हूं, तो मेरा नियंत्रण सिर्फ गेंद पर होता है और मैं गेंदबाजी के प्रति अपने दृष्टिकोण को सामने रखने की कोशिश करता हूं।”

अच्छी गेंदबाज़ी का श्रेय- बॉलर की कड़ी मेहनत या कप्तान का विश्वास?  

एक गेंदबाज़ का विकास सीधे तौर पर कप्तान का उनकी क्षमताओं में विश्वास से जुड़ा होता है। जब जसप्रीत बुमराह से पूछा गया कि उनकी अच्छी गेंदबाज़ी के लिए विराट कोहली को कितना श्रेय देना चाहिए, तो उनका कहना था कि, “गेंदबाज़ का विकास इस बात पर भी निर्भर करता है कि वह गेंदबाज़ी पर कितनी मेहनत करता है,” बुमराह का जवाब बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि पहले टीम की गेंदबाजी की सफलता का श्रेय लगभग कपतान समेत सहयोगी स्टाफ को देना अनिवार्य होता था।

मोहम्मद शमी ने पहले टेस्ट के दौरान इस प्रवृत्ति का विरोध करते हुए कहा था कि ”श्रेय उस व्यक्ति को जाना चाहिए जो वास्तव में कड़ी मेहनत कर रहा है।” हालांकि, कप्तान के बारे में बात करते हुए जसप्रीत ने कहा कि विराट कोहली के नेतृत्व में खेलना का अनुभव अद्भुत होता है।

Post a Comment

From around the web