ड्रग्स और क्रिकेट:क्या वसीम अकरम, शैन वार्न ड्रग्स के शौकीन थे...'

s

स्पोर्ट्स डेस्क, जयपुर।। अंतरराष्ट्रीय मादक द्रव्य एवं तस्करी विरोध दिवस मनाय जा रहा है। एक आंकड़े के अनुसार लगभग 200 मिलियन लोग  कोकीन,गांजा आदि नशीली दवाओं का इस्तेमाल करते । कई खिलाड़ियों पर प्रतिबंधित ड्रग्स लेने के कारण बैन लगाया जा चुका है। इसे डोपिंग में पॉजिटिव पाया जाना भी कहते हैं। डोपिंग का मतलब है ताकत बढ़ाने वाला वह पदार्थ जिसे खाने से किसी भी खिलाड़ी का स्टैमिना एकदम से बढ़ जाए। इस शॉर्टकट के जरिए वह खेल के मैदान में अपने विरोधी खिलाड़ियों को पीछे छोड़ सकता है। हर साल खिलाड़ी जब भी किसी बड़े इवेंट में हिस्सा लेते हैं, उससे पहले उनका डोप टेस्ट होता है। रियो ओलिंपिक के दौरान भारतीय पहलवान नरसिंह यादव डोप टेस्ट में पॉजिटिव पाए गए थे, जिसके बाद उन्हें ओलिंपिक में भाग नहीं लेने दिया गया था। आइए आपको बताते हैं उन क्रिकेट खिलाड़ियों के बारे में जिन पर ड्रग्स लेने के कारण बैन लगा दिया गया था।

शेन वॉर्न: जब शेन वॉर्न का नाम डोपिंग में आया था तो क्रिकेट जगत में तूफान मच गया था। वॉर्न को भले ही उनकी विकेट लेने की क्षमता के लिए जाना जाता हो, लेकिन वह अॉस्ट्रेलियाई क्रिकेट के बैड बॉय भी रहे हैं। 2003 वर्ल्ड कप में अॉस्ट्रेलिया के पहले मैच की पूर्व संध्या पर वॉर्न का डोप टेस्ट हुआ था, जिसमें वह पॉजिटिव पाए गए थे। उन पर 12 महीनों के लिए बैन लगा दिया गया था। इसके बाद उन्होंने 2004 में वापसी की थी।

वसीम अकरम  1993 में पाकिस्तान के वेस्टिंडीज़ दौरे पर ग्रेनाडा में कप्तान वसीम अकरम, उप कप्तान वक़ार यूनुस, आक़िब जावेद और मुश्ताक अहमद को समंदर किनारे नशीली दवाओं के साथ गिरफ़्तार किया गया था।

s

मनिंदर सिंह भारत के पूर्व क्रिकेटर मनिंदर सिंह भी ड्रग्स लेने के आरोप में पुलिस के हत्‍थे चढ़ चुके हैं। दिल्ली पुलिस की नारकोटिक्स ब्रांच ने मनिंदर को पूर्वी दिल्ली स्थित प्रीत विहार उनके घर से डेढ़ ग्राम कोकीन के साथ गिरफ्तार किया था।

मनिंदर सिंह बाएं हाथ के स्पिन ‌गेंदबाज रहे हैं। भारत की ओर से खेलते हुए उन्होंने 35 टेस्ट मैच खेले जिसमें उन्होंने 88 विकेट लिए। इसकेअलावा 59 वनडे मैच में उन्होंने 66 विकेट लिए।

उपुल थरंगा:2011 के वर्ल्ड कप के दौरान थरंपा प्रतिबंधित दवाएं लेते हुए पाया गया था। इस बल्लेबाज ने माना था कि उन्होंने कंधे की चोट के दर्द से निजात पाने के लिए कुछ हर्बल दवाइयों का सेवन किया था। एंटी डोपिंग ट्रिब्यूनल ने माना था कि थरंगा ने अपना प्रदर्शन बढ़ाने के लिए दवाएं नहीं ली थीं। लेकिन उन पर तीन महीने का बैन लगाया गया था।

 जेसी रायडर  न्यूजीलेंड के बल्लेबाज जेसी राइडर  मार्च में क्राइस्टचर्च में एक बार के बाहर हमला हुआ था जिसके बाद वह कोमा  में चले गए थे। राइडर जब स्वास्थ्य लाभ ले रहे थे कि उसी दौरान उन्हें बताया गया कि दो शक्तिवर्द्धक दवाओँ के लिए उनका परीक्षण पॉजिटिव पाया गया है। जिसके बाद उनपर छह महीने का प्रतिबंधित लगा दिया गया था।

Post a Comment

From around the web